क्या ITALY इन लासो को कोई हाथ नहीं लगा रहा !!

क्या ITALY इन लासो को कोई हाथ नहीं लगा रहा !!!

आज कल इंटरनेट पे जोभी किसी चीस को वायरल होने में थोड़ी भी देर नहीं लगती, और सबसे ज्यादा व्हाट्सप्प पर , एक फोटो या फिर वीडियो को हजारो लोको तक पोहोचने में कुछ मिनिट लगता है पर क्या वो सब चीज़ सचमे है या फिर एक गलत न्यूज़ है। इसी बात को हम आपको बताएँगे हमारे इस पोस्ट में " क्या है जुठ और क्या है सच "

इस वायरल photo को देखिये 

( इन् photo में दावा किया किया गया है की ये इटली की तस्वीर है जिनलोगो को कोरोना वायरस हुआ और उन् लोगो की मौत हो गयी है वहा की गोवेर्मेंट उन् लासो को हाथ भी नहीं लगा रही है  )



अब जानिए इस फोटो के पीछे की सच्चाई 

हमने इस photo को गूगल रेवेर्स  सर्च में सर्च किया  और हमें ये जानने को मिला की नातो यह  फोटो इटली की है और न तो ये फोटो इटली के किसी सहर की है। हुए आपको जानके हैरानी हो गई की ये फोटो में जो लोग दिख रहे है वो सभी लोग जिन्दा है। और  ये लास तो बिलकुल  नहीं है।

सच्चाई   

जर्मनी का एक सहर है फ्रैंकफर्ड 26 मार्च 2014 को ये photo लिया गया था। नाज़ी कंसन्ट्रेशन कैंप चलाया गया यहूदी लोगो के द्वारा उन् लोगो के लिए जिनको हिटलर की सेना पहले मारा करती थी और मार कर वही पे दफना भी देती थी। तो उसी के चलते ये लोग अफ़सोस जताने के लिए यहाँ पर एकठा हुए थे कर सहीदो को सरधांजलि दियी गयी थी 

क्या आप के पास भी आ रही है इसी तरह की photo और  मेसेजेस उस चीज़ की सच्चाई जानने के लिए हमें भेजिए वो फोटो , वीडियो या फिर ऑडियो hindifactsshala आपतक पोहचा एहि सही information 
 sachhai.hf@gmail.com



कितना खतरनाक है कोरोना वायरस ? इलाज क्या है?

कोरोना वायरस जिसने चीन में सभी की हालत ख़राब करके राखी हे। अब तक चीन में इस वायरस ने 259  लोगो की जान लेली है और ये आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। चीन में इस वायरस से 11,791  केसेस सामने आये है।
और इस वायरस का अभी तक कोई वैक्सीन भी नहीं तैयार हुए है। दुनिआ भर के scienties इस वायरस का इलाज ढूंढ़ने में लगी हुए है। 


क्या है कोरोना वायरस ?

पूरा नाम "मिडल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम  कोरोना वायरस" कोरोना इन्फेक्शन से फैलने वाला वायरस हे। कोरोना वाइरस एक सिंगल वायरस नहीं हे बल्कि फैमली ऑफ़ वायरस हे कोरोना फैमली में कुल सात वायरस है। कोरोना इन्फेक्शन हुआ तो सब से पहले इन सात वायरस में से कोनसा  वायरस हुआ है वो जानना बोहोत मुश्किल हे ,कोरोना वायरस आमतौर पर जानवरो में पाया जाता है पर ये जानवरो में से इंसाने में फेल सकता है ,


कोरोना कितना खातरनाक है ?

इस की दो वजह हे 
1 . कोरोना वायरस  के लक्षण जो एक नार्मल बुखार जैसे ही होता है। इसी वजह से लोग आमतौर  पर इसे नजर अंदाज कर देते है। या फिर हलकी फुलकी दवाइया लेके काम चला लेते है। डॉक्टर भी जल्दी कोरोना वायरस पकड़ नहीं पते जबतक पता वहलता है इंफ्केशन  ज्यादा बढ़ चूका होता है। 
2 . दूसरी वजह कोरोना का मोटलिटी यानि इससे होने वाली मोत की रेट  यानि इससे होने वाली मोतो का  दर  35% से भी ज्यादा है मतलब की कोरोना वायरस के 35 %  मामलो में मरीज़ की मोत हो जाती हे।  ये हाई मोटालिटी रेट ही कोरोना वायरस को दुनिया का  तीसरा सबसे खातरनाक वायरस बनाता है। 

क्या कोरोना वायरस का इलाज मुमकिन है ?

कोरोना वायरस का  कोई इलाज अब तक नहीं है काम चल रहा है अब तक चीन में जिस तरह से कोरोना फेल रहा है इससे उम्मीद तो कर सकते है  वैक्सीन बहोत ही जल्द बन जाएगी।  कोरोना का वैक्सीन बनाने के लिए पांच देशो में इस पर टेस्टिंग हो रही है। 

इससे बचने के लिए क्या करे !

सबसे पहले इंटरनेशनल ट्रेवल करने वाले लोगो को ये बात बारत  चाहिए  कोरोना वायरस  देस में आने से पहले टेस्ट जरूर करवाए 
इन्फेक्टेड देश खुद भी ऐरपोट पर स्क्रीनिंग की सुविधा उपलब्ध करवा रही है बाकी सावधानिया वही जो किसी भी वायरस  लिए किए जाते है। जैसे मास्क पहना बारबार हाथ धोना वगेरे 

कुछ और बाते कोरोना वायरस के बारेमे 

1  कोरोना वायरस फैमली वायरस है इससे इस नाम इस लिए मिला क्यों की कोरोना वायरस ताज क्राउन जैसा दीखता है। 

2  कोरोना वायरस ज्यादा तर जानवरो में पाया जाता है जैसे की चमगादड़  , बिल्ली कैमल ,साप  वगेरे  इंसानो में ये जनवरो से फैलता है।  

3  कोरोना वायरस होने पर सर्दी ,सरदर्द और खास तोर पर निमोनिआ के लक्षण पाए जाये है। कोरोना वायरस के 41 मरीजोमे निमोनिआ पाया गया 

4  इस वायरस का पहला केस चाइना के वुहान सहर में पाया गया शुरुआत में ये समजा गया की ये ये वायरस यही से आया है। 

5  सबसे पहला केस जहा हुआ वह पर रिसर्च करने पर पता चला के ये वायरस चमगादड़ में से आया है 

6 भारत में भी एक केस पाया गया है कोरोना वायरस का। 

7  WHO ने भी अभी बता दिया हिअ की ये वायरस इंटरनॅशनली फेल चूका  है 


Search Results

Web result with site links



World Health Organization (WHO ) द्वारा जारी किये हुए कुछ सवालो के जवाब और सावचेतिया